Home Top Ad

Responsive Ads Here

Top 20 Bible Verses on Faith

Share:

Top 20 Bible Verses on Faith


1.  
और किसी दूसरे के द्वारा उद्धार नहीं; क्योंकि स्वर्ग के नीचे मनुष्यों में और कोई नाम नही दिया गया, जिसके द्वारा हम उद्धार पा सकें। 
                                               
                                                                       हिंदी बाइबल : प्रेरितों के काम - 4: 12

2   बुद्धि को प्राप्त करो, समझ को भी प्राप्त कर, उनको भूल ना जाना; न मेरी बातों को छोड़ना। 

2  (4) और मेरा पिता मुझे यह कह कर सिखाता था, कि " तेरा मन मेरे वचन पर लगा रहे ; तू मेरी आज्ञाओं का पालन कर, तब जीवित रहेगा।"


3. (6) बुद्धि को न छोड़, बुद्धि तेरी रक्षा करेगी ; इस से प्रीती रख , यह तेरा पहरा देगी।
                                                       

                                                                                                                                                                                                हिंदी बाइबिल. नीति वचन 4:4-6

4. हे मेरे पुत्र ! यहोवा की शिक्षा से मुँह न मोड़ना, और जब वह तुझे डांटे, तब तू बुरा न मानना।                                                                             
                                                                                                                                                                                   हिंदी बाइबिल. नीति वचन ३ (11)  


5. क्योंकि यहोवा  उसीको डांटता है जिस से प्रेम रखता है, जैसे कि बाप उस बेटे को जिसे वह अधिक चाहता है।


6. मैं तेरा हाथ थामकर तेरी रक्षा करूंगा ;
                                                                                                                                                                                             यशायाह 42 : 6

7. उसने हमारी दुर्बलताओं को खुद ले लिया और हमारी बीमारियों को उठा लिया।

                                                                                        मत्ती 8:17



8. धन्य वे हैं जिन्होंने बिना देखे विश्वास कर लिया। 

                                                                                    यूहन्ना 20:29


9. तूने मुझे शान्ति दी है।

                                                                                 यशायाह 12:1


10. मै वही हूँ जो अपने नाम के निमित तेरे अपराधों को मिटा देता हूँ और तेरे पापों को स्मरण न करूंगा।

                                                                                  यशायाह 43:25



11. पर अच्छी भूमि में के वे हैं, जो वचन सुनकर भले और उत्तम मन में संभाले रहते हैं और धीरज से फल लाते हैं। 

                                                                                         लूका 8:15


12. सारे दशमांश भण्डार में ले आओ कि मेरे भवन में भोजन वस्तु रहे ; और सेनाओं का यहोवा ये कहता है , कि ऐसा करके मुझे परखो कि मै आकाश के झरोखे तुम्हारे लिए खोलकर तुम्हारे लिए अपरम्पार आशीष की वर्षा करता हूँ कि नही। 
                                                                                                                                                                                                मलाकी 3:10


13. मै तुम्हारे लिए नाश करने वालों को ऐसा घुड़कुंगा कि वह तुम्हारी भूमि की उपज नाश न करेगा।

                                                                                     
मलाकी 3:11


14. परमेश्वर हृदय की सच्चाई से प्रसन्न होता है।

                                                                             
भजन संहीता 51:6


15. क्योंकि परमेश्वर का वचन जीवित, और प्रबल, और हर एक दोधारी तलवार से भी बहुत चोखा है, और जीव, और आत्मा को, और गाँठ-गाँठ , और गूदे-गूदे को अलग करके, आर-पार छेदता है; और मन की भावनाओं और विचारों को जांचता है।

                                                                                 
इब्रानियों 4:12

16. यहोवा आप ही तुम्हारे लिए लड़ेगा, इसलिए तुम चुपचाप रहो।

                                                                                                                                                                                            निर्गमन 14:14

17. 
जवान सिंहों को तो घटी होती और वे भूखे भी रह जाते हैं , परन्तु यहोवा के खोजियों को किसी भली वस्तु की घटी होगी। 

                                                                                 भजन संहिता 34:10

18 
 जब उन्होंने पतरस और यूहन्ना का हियाव देखा,और यह जाना कि ये अनपढ़ और साधारण मनुष्य हैं,तो अचम्भा किया, फिर उनको जाना कि ये यीशु के साथ रहे हैं। 


                                                                  हिंदी बाइबल : प्रेरितों के काम - 4: 13


19. क्योंकि पाप की मजदूरी तो मृत्यु है, परन्तु परमेश्वर का वरदान हमारे प्रभु यीशु मसीह में अनंत जीवन है।  
                                                                               रोमियो 6: 23

20. जिस रीती से कोई पुरुष अपने पुत्र को उठाये चलता है, उसी रीती हमारा परमेश्वर यहोवा हमें उठाये रहा। 
                                                            
                                                                   व्यव्यस्था विवरण 1: 31 








No comments