Miracle Jesus

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Top 20 Bible Verses About Faith

Share:
There are lots of bible verses about faith in the faith scriptures. Faith in the Holy Spirit brings the new blessings of love and peace and prosperity in life. 

Top 20 Bible Verses on Faith

bible verses about faith
top 20 bible verses about faith



1.  
और किसी दूसरे के द्वारा उद्धार नहीं; क्योंकि स्वर्ग के नीचे मनुष्यों में और कोई नाम नही दिया गया, जिसके द्वारा हम उद्धार पा सकें। 
                                               
                                                                       हिंदी बाइबल - प्रेरितों के काम - 4/12

2   बुद्धि को प्राप्त करो, समझ को भी प्राप्त कर, उनको भूल ना जाना; न मेरी बातों को छोड़ना। 

2  (4) और मेरा पिता मुझे यह कह कर सिखाता था, कि " तेरा मन मेरे वचन पर लगा रहे ; तू मेरी आज्ञाओं का पालन कर, तब जीवित रहेगा।"


3. (6) बुद्धि को न छोड़, बुद्धि तेरी रक्षा करेगी ; इस से प्रीती रख , यह तेरा पहरा देगी।
                                                       

                                                                                                                                                                                              हिंदी बाइबिल. नीति वचन - 4/4-6

4. हे मेरे पुत्र ! यहोवा की शिक्षा से मुँह न मोड़ना, और जब वह तुझे डांटे, तब तू बुरा न मानना।                                                                            
                                                                                                                                                                                   हिंदी बाइबिल. नीति वचन  - 3/11


5. क्योंकि यहोवा  उसीको डांटता है जिस से प्रेम रखता है, जैसे कि बाप उस बेटे को जिसे वह अधिक चाहता है।


6. मैं तेरा हाथ थामकर तेरी रक्षा करूंगा ;
                                                                                                                                                                                             यशायाह - 42/6
bible verses about faith

7. उसने हमारी दुर्बलताओं को खुद ले लिया और हमारी बीमारियों को उठा लिया।

                                                                                        मत्ती - 8/17



8. धन्य वे हैं जिन्होंने बिना देखे विश्वास कर लिया। 

                                                                                    यूहन्ना - 20/29


9. तूने मुझे शान्ति दी है।

                                                                                 यशायाह - 12/1


10. मै वही हूँ जो अपने नाम के निमित तेरे अपराधों को मिटा देता हूँ और तेरे पापों को स्मरण न करूंगा।

                                                                                  यशायाह - 43/25



11. पर अच्छी भूमि में के वे हैं, जो वचन सुनकर भले और उत्तम मन में संभाले रहते हैं और धीरज से फल लाते हैं। 

                                                                                         लूका - 8/15


12. सारे दशमांश भण्डार में ले आओ कि मेरे भवन में भोजन वस्तु रहे ; और सेनाओं का यहोवा ये कहता है , कि ऐसा करके मुझे परखो कि मै आकाश के झरोखे तुम्हारे लिए खोलकर तुम्हारे लिए अपरम्पार आशीष की वर्षा करता हूँ कि नही। 
                                                                                                                                                                                                मलाकी - 3/10

13. मै तुम्हारे लिए नाश करने वालों को ऐसा घुड़कुंगा कि वह तुम्हारी भूमि की उपज नाश न करेगा।

                                                                                     
मलाकी - 3/11


14. परमेश्वर हृदय की सच्चाई से प्रसन्न होता है।

                                                                             
भजन संहीता - 51/6


15. क्योंकि परमेश्वर का वचन जीवित, और प्रबल, और हर एक दोधारी तलवार से भी बहुत चोखा है, और जीव, और आत्मा को, और गाँठ-गाँठ , और गूदे-गूदे को अलग करके, आर-पार छेदता है; और मन की भावनाओं और विचारों को जांचता है।

                                                                                 
इब्रानियों - 4/12

16. यहोवा आप ही तुम्हारे लिए लड़ेगा, इसलिए तुम चुपचाप रहो।

                                                                                                                                                                                            निर्गमन - 14/14

17. 
जवान सिंहों को तो घटी होती और वे भूखे भी रह जाते हैं , परन्तु यहोवा के खोजियों को किसी भली वस्तु की घटी होगी। 

                                                                                 भजन संहिता - 34/10

18 
 जब उन्होंने पतरस और यूहन्ना का हियाव देखा,और यह जाना कि ये अनपढ़ और साधारण मनुष्य हैं,तो अचम्भा किया, फिर उनको जाना कि ये यीशु के साथ रहे हैं। 


                                                                  हिंदी बाइबल : प्रेरितों के काम - 4/13


19. क्योंकि पाप की मजदूरी तो मृत्यु है, परन्तु परमेश्वर का वरदान हमारे प्रभु यीशु मसीह में अनंत जीवन है।  
                                                                               रोमियो - 6/23

20. जिस रीती से कोई पुरुष अपने पुत्र को उठाये चलता है, उसी रीती हमारा परमेश्वर यहोवा हमें उठाये रहा। 
                                                            
                                                                   व्यव्यस्था विवरण - 1/31 








No comments